जैवविविधता एवं पारिस्थिकी संरक्षण में वैटलेंड की भूमिका महत्वपूर्ण ।

0
22

IEP Nainital

नैनीझील को रिचार्ज करने वाली सूखाताल झील के साथ ही शहर के चारों ओर झील को रिचार्ज करने वाली चिन्हित भूमि को वैटलेंड घोषित करने संबंधी बैठक लेते हुये मण्डलायुक्त राजीव रौतेला ने कहा कि गत 15 मई को प्रदेश में राज्यस्तरीय वैटलैंड कमेटी का गठन कर दिया गया है। उन्होंने राज्य कमेटी से  जिलास्तरीय वैटलैंड कमेटी के गठन का अनुरोध किया। साथ ही संबंधित अधिकारी सूखाताल झील के साथ ही अन्य चिन्हित भूमि को वैटलैेंड घोंषित कराने हेतु सर्वे कर प्रस्ताव बनाने की तैयारी करना सुनिश्चित करें।

आयुक्त ने कहा कि जैवविविधता एवं पारिस्थिकी संरक्षण में वैटलेंड की महत्वपूर्ण भूमिका होती है इसलिये नैनीताल के साथ ही नैनीताल से लगे भीमताल, नौकुचियाताल, सातताल आदि झीलों के इर्द-गिर्द रिचार्जजिंग जोन को वैटलैेंड कलस्टर प्रस्ताव बनाया जायेगा, इस हेतु उन्होंने राजस्व, वन, सिंचाई, कृषि, पर्यावरण, जलनिगम, जलसंस्थान आदि संबंधित विभागों को वैटलैंड चिन्हित कर प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिये।  रौतेला ने उप जिलाधिकारी, राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे नैनीताल से काठगोदाम रोड को एक माॅडल रोड बनायें तथा इस रोड के किनारे गंदगी करने वाले ढाबे, खोखों को नोटिस दें तथा अवैध ढाबे, खोखा़ आदि को हटाने के निर्देश भी दिये। साथ ही सड़कों पर टूटे-फूट, आड़े-तिरछे खराब साइनेज बोर्ड व होर्डिंग्स आदि तुरंत हटाने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि प्रशासन व सड़क महकमे के अनुमति के बिना सड़कों पर कतई बोर्ड व होर्डिंग्स नहीं लगाये जायेंगे। बैठक में मुख्य वन संरक्षक कुमाऊ कपिल जोशी, जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन, सचिव जिला विकास प्राधिकरण हरबीर सिंह, उप जिलाधिकारी एपी वाजपेयी, अधीक्षण अभियंता सिंचाई एनएस पतियाल,अधिशासी अभियंता हरीश चन्द्र भारती, ईओ रोहिताश शर्मा, एसडीओ वन दिनकर तिवारी, प्रो. अजय रावत, प्रो. पीके पांडे, प्रो. सीसी पंत, प्रो. जीएल साह, सुदर्शन लाल साह आदि मौजूद थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here