नायब तहसीलदार ऋषिकेश को सतर्कता सैक्टर देहरादून की टैªप टीम द्वारा सरकारी स्वतन्त्र गवाहान के समक्ष शिकायतकर्ता से 50,000 उत्कोच ग्रहण करते हुये रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।

0
34

IEP Dehradun

शिकायतकर्ती निवासी जनपद देहरादून द्वारा दिनांक 27.10.2018 को एक शिकायती प्रार्थना पत्र पुलिस अधीक्षक, सतर्कता सैक्टर देहरादून को इस आशय का दिया कि उसके ग्राम पंचायत रायवाला में दिनंाक 14.10.2014 को आयोजित खुली बैठक में प्रस्ताव सं0-7 में यह प्रस्ताव पारित हुआ कि पंचायत भवन परिसर में मौजूद यूकोलिप्टिस के पेड़ जो कि पंचायत भवन के लिए खतरा है तथा अन्य आसपास के यूकोलिप्टस के पेड़ों को कटवाया जाये तथा इससे प्राप्त राजस्व को ग्राम विकास कार्याे पर खर्च किया जाये। ग्राम प्रधान ने उक्त प्रस्ताव के क्रम में पेड़ों को कटवाकर नीलामी से प्राप्त रूपयों को ग्राम पंचायत के बैंक खाते में जमा करवा दिये। ग्राम पंचायत रायवाला के उपप्रधान कैलाश भट्ट द्वारा पेड़ों की कटाई व नीलामी के सम्बन्ध में एक प्रार्थना पत्र सी0डी0ओ0 देहरादून को दिया गया।

जांच में ग्राम प्रधान के विरूद्व कोई त्रुटि नहीं पाई गयी। दिनांक 12.10.2018 को ग्राम प्रधान रायवाला/शिकायतकर्ती ग्राम सभा के कार्य हेतु तहसील ऋषिकेश गई, जहाॅ पर उसे नायब तहसीलदार मुन्ना सिंह चौहान द्वारा बताया गया कि आपके विरूद्व ग्राम पंचायत के पेड़ों के कटान एवं नीलामी के सम्बन्ध में उपप्रधान कैलाश भट्ट द्वारा एक शिकायती प्रार्थना पत्र जिलाधिकारी देहरादून को दिया गया है, जिसकी जांच मैं कर रहा हूॅ। आपकी जांच के सम्बन्ध में आपको ‘‘साढे चार लाख रू0 की पेनल्टी लगेगी’’ इस पर शिकायतकर्ती ने नायब तहसीलदार को बताया कि पेड़ों के कटान व नीलामी के सम्बन्ध में ए0डी0ओ0 पंचायत डोईवाला एवं एस0डी0एम0 ऋषिकेश द्वारा पूर्व में जांच की जा चुकी है। जिस पर नायब तहसीलदार बोले कि उन लोगों ने इस फाईल पर जांच पूरी नहीं की है। फिर शिकायतकर्ती ने कहा कि आप इस जांच को देखकर पूरा कर लो, मैंने इसमें कोई अनियमितता नहीं की है। इस पर नायब तहसीलदार मुन्ना सिंह चौहान द्वारा जांच को शिकायतकर्ती के पक्ष में करने की एवज में कहा कि आप मुझे 50-60 हजार रूपये दे दो बाकी जांच के बाद बताऊंगा कि कितने और देने है, और कहा कि पैंसे नहीं दोगे तो आपका बस्ता जमा हो जायेगा, इसके बाद शिकायतकर्ती ने कहा कि अभी मेरे पास पैंसे नहीं है, और त्योहार भी है, बाद में आऊंगी। इस पर नायब तहसीलदार ने बोला कि आप मंगलवार दिनांक 30.10.2018 को रिश्वत के रू0 50-60 हजार रूपये लेकर जयराम आश्रम ऋषिकेश के कमरा नं0 49 में सुबह 9ः30 बजे से पहले आ जाना। शिकायतकर्ती रिश्वत नहीं देना चाहती है और प्रार्थना पत्र पर आवश्यक कार्यवाही चाहती है।

पुलिस अधीक्षक, सतर्कता सैक्टर देहरादून द्वारा शिकायतकर्ती केे शिकायती प्रार्थना पत्र की गोपनीय जांच में आरोप सही पाते हुये नियमानुसार टैªप संचालन हेतु टैªप टीम का गठन किया गया।
आज दिनांक 30.10.2018 को आरोपी मुन्ना सिंह चौहान पुत्र श्री खड़ग सिंह, निवासी – ग्राम रसूलपुर, विकासनगर देहरादून, हाल नायब तहसीलदार ऋषिकेश को सतर्कता सैक्टर देहरादून की टैªप टीम द्वारा जयराम आश्रम ऋषिकेश के कमरा नं0 49 से समय करीब 10ः15 बजे सरकारी स्वतन्त्र गवाहान के समक्ष शिकायतकर्ता से 50,000 उत्कोच ग्रहण करते हुये रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया। आरोपी के विरूद्व थाना सतर्कता सैक्टर देहरादून पर धारा-7/13(1)डी सपठित धारा-13(2)भ्र0नि0अधि0 1988 के अन्तर्गत अपराध पंजीकृत कराकर विवेचना की जायेगी।
निदेशक, सतर्कता द्वारा टैªप टीम के प्रभारी निरीक्षक रमेश तनवार व सदस्य नि0 विभा वर्मा, नि0 प्रकाश दानू एवं आरक्षी अश्वनी कुमार, गौरव चैधरी, नीरज रावत, भगवती को बधाई देते हुए उत्साह वर्धन हेतु 10,000 नकद पारितोषिक देने की घोषणा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here